10 Lines on Ramanujan in Hindi | रामानुजन पर 10 लाइन

10 Lines on Ramanujan in Hindi | रामानुजन पर 10 लाइन

श्रीनिवास रामानुजन एक भारतीय गणितज्ञ थे।

श्रीनिवास रामानुजन का जन्म 22 दिसंबर 1887 को इरोड, तमिलनाडु, भारत में हुआ था।

उनके पिता का नाम श्रीनिवास अय्यंगर और माता का नाम कोमलताम्मल था।

उनके पिता कुप्पुस्वामी श्रीनिवास अय्यंगर एक साड़ी की दुकान में क्लर्क के रूप में काम करते थे।

हर साल 22 दिसंबर को रामानुजन की जयंती को राष्ट्रीय गणित दिवस के रूप में मनाया जाता है।

1918 में उन्हें इंग्लैंड की रॉयल सोसाइटी के लिए चुना गया था।

स्कूल में उनका कभी कोई दोस्त नहीं था।

रामानुजन अपने परिवार की देवी महालक्ष्मी के भक्त थे।

उन्होंने अपने जीवनभर में गणित के करीब 3900 प्रमेयों का संकलन किया।

उन्होंने 1911 में जर्नल ऑफ द इंडियन मैथमैटिकल सोसाइटी में अपना पहला पेपर प्रकाशित किया था।

रामानुजन का विवाह जानकी अम्मल के साथ 21 मार्च 1899 को हुआ था।

श्रीनिवास रामानुजन ट्रिनिटी कॉलेज, कैम्ब्रिज के फेलो चुने जाने वाले पहले भारतीय थे।

10 Lines on Ramanujan in English

Srinivasa Ramanujan was an Indian mathematician.

Srinivasa Ramanujan was born on 22 December 1887 in Erode, Tamil Nadu, India.

His father’s name was Srinivasa Iyengar and his mother’s name was Komalatammal.

His father, Kuppuswamy Srinivasa Iyengar, worked as a clerk in a sari shop.

Every year on 22 December, Ramanujan’s birth anniversary is celebrated as National Mathematics Day.

Srinivasa Ramanujan was the first Indian to be elected a Fellow of Trinity College, Cambridge. 

Ramanujan was a devotee of his family Goddess Mahalakshmi. 

He never had any friends in school.

He published the first of his papers in the Journal of the Indian Mathematical Society in 1911. 

Ramanujan was married to Janaki Ammal on March 21, 1899. 

He compiled around 3900 results that consist of equations and identities.

हम आशा करते हैं कि आपको हमारा लेख 10 Lines on Ramanujan in Hindi | रामानुजन पर 10 लाइन पसंद आया होगा. यदि आपको हमारा यह लेख पसंद आया हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ साझा कर सकते हैं।

2 thoughts on “10 Lines on Ramanujan in Hindi | रामानुजन पर 10 लाइन”

Leave a Comment