10 Lines on Subhash Chandra Bose in Hindi | सुभाष चंद्र बोस पर 10 लाइन

10 Lines on Subhash Chandra Bose in Hindi | सुभाष चंद्र बोस पर 10 लाइन

सुभाष चंद्र बोस एक भारतीय स्वतंत्रता सेनानी थे।

सुभाष चंद्र बोस का जन्म 23 जनवरी 1897 को कटक, ओडिशा, भारत में हुआ था।

उनके पिता का नाम जानकीनाथ बोस और माता का नाम प्रभावती बोस था।

उनके पिता कटक शहर के एक प्रसिद्ध वकील थे।

उन्होंने आज़ाद हिन्द फ़ौज का गठन किया था।

भारत में उन्हें नेताजी के नाम से सम्बोधित किया जाता है।

उनके द्वारा दिया गया जय हिन्द का नारा भारत का राष्ट्रीय नारा बन गया है।

उनके प्रसिद्ध नारे हैं ‘तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हें आजादी दूंगा’, ‘जय हिंद’ और ‘दिल्ली चलो’।

उन्होंने ऑस्ट्रियाई मूल की महिला एमिली शेंकल से शादी की थी।

उन्होंने पूर्ण स्वराज की वकालत की और इसे हासिल करने के लिए बल प्रयोग के पक्ष में थे।

स्वतंत्रता संग्राम के दौरान उन्हें 11 बार जेल जाना पड़ा था।

बोस की विचारधारा का झुकाव समाजवाद और वामपंथी सत्तावाद की ओर था।

सुभाष चंद्र बोस की मृत्यु आज भी सबसे बड़े रहस्यों में से एक है।

ऐसा कहा जाता है कि 18 अगस्त 1945 को ताइपे में एक जापानी विमान दुर्घटना में उनकी मृत्यु हो गई थी।

10 Lines on Subhash Chandra Bose in English

Subhas Chandra Bose was an Indian freedom fighter.

Subhas Chandra Bose was born on 23 January 1897 in Cuttack, Odisha, India.

His father’s name was Janakinath Bose and his mother’s name was Prabhabati Bose. 

His father was a famous lawyer in Cuttack city.

He is famously known as the founder of ‘Azad Hind Fauj’.

His famous slogans are ‘tum mujhe khoon do, main tumhe aazadi dunga’, ‘Jai Hind’, and ‘Delhi Chalo’. 

He was married to Emilie Schenkl, a woman of Austrian origin.

He advocated complete Swaraj and was in favour of the use of force to gain it.

He had to go to jail 11 times during the freedom struggle.

Bose’s ideology was inclined towards socialism and left-wing authoritarianism.

The death of Subhas Chandra Bose is still one of the biggest mysteries.

It is said that he died in a Japanese plane crash in Taipei on August 18, 1945.

5 Lines on Subhash Chandra Bose in Hindi | सुभाष चंद्र बोस पर 5 लाइन

सुभाष चंद्र बोस भारत के स्वतंत्रता संग्राम के अग्रणी नेता थे।

उन्हें ‘आजाद हिंद फौज’ के संस्थापक के रूप में जाना जाता है।

भारत में उन्हें नेताजी के नाम से सम्बोधित किया जाता है।

उनकी एक बेटी है जिसका नाम अनीता बोस है जो एक प्रसिद्ध जर्मन अर्थशास्त्री हैं।

उन्होंने 18 जनवरी 1938 से 29 अप्रैल 1939 तक भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष के रूप में भी कार्य किया था।

5 Lines on Subhash Chandra Bose in English

Subhas Chandra Bose was the foremost leader of India’s freedom struggle.

In India, he is addressed as Netaji.

He is known as the founder of ‘Azad Hind Fauj’.

They have a daughter named Anita Bose who is a renowned German economist.

He also served as the President of the Indian National Congress from 18 January 1938 to 29 April 1939.

हम आशा करते हैं कि आपको हमारा लेख “10 Lines on Subhash Chandra Bose in Hindi | सुभाष चंद्र बोस पर 10 लाइन” पसंद आया होगा. यदि आपको हमारा यह लेख पसंद आया हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ साझा कर सकते हैं।

2 thoughts on “10 Lines on Subhash Chandra Bose in Hindi | सुभाष चंद्र बोस पर 10 लाइन”

Leave a Comment