10 Lines on Lala Lajpat Rai in Hindi | लाला लाजपत राय पर 10 लाइन

10 Lines on Lala Lajpat Rai in Hindi | लाला लाजपत राय पर 10 लाइन

लाला लाजपत राय एक भारतीय लेखक, स्वतंत्रता सेनानी और राजनीतिज्ञ थे।

लाला लाजपत राय का जन्म 28 जनवरी 1865 को पंजाब, भारत में हुआ था।

उनके पिता का नाम मुंशी राधा कृष्ण अग्रवाल और माता का नाम गुलाब देवी अग्रवाल था।

उन्हें पंजाब केसरी के नाम से जाना जाता था।

उन्होंने भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

लाला लाजपत राय ने पंजाब नेशनल बैंक की स्थापना में मदद की थी।

उन्होंने ब्रिटिश शासन के खिलाफ असहयोग आंदोलन में सक्रिय रूप से भाग लिया, जो मुख्य रूप से रॉलेट एक्ट का विरोध करने के लिए शुरू किया गया था।

लाला लाजपत राय की पुण्यतिथि पर ओडिशा के लोग शहीद दिवस मनाते हैं।

वह आर्य समाज के संस्थापक दयानंद सरस्वती के अनुयायी थे।

उन्हें भारत में चरमपंथी राष्ट्रवाद के स्तंभ के रूप में वर्णित किया गया है।

लाला लाजपत राय हिंदू धर्म से काफी प्रभावित थे।

लाला लाजपत राय की गंभीर चोटों के कारण 17 नवंबर 1928 को मृत्यु हो गई थी।

लाठीचार्ज के दौरान गंभीर रूप से घायल होने के बाद, उन्होंने कहा था, “मैं घोषणा करता हूं कि आज मुझ पर किया गया प्रहार भारत में ब्रिटिश शासन के ताबूत में आखिरी कील होगा।”

10 Lines on Lala Lajpat Rai in English

Lala Lajpat Rai was an Indian writer, freedom fighter and politician.

Lala Lajpat Rai was born on 28 January 1865 in Punjab, India.

His father’s name was Munshi Radha Krishna Aggarwal and his mother’s name was Gulab Devi Aggarwal.

He was popularly known as Punjab Kesari. 

He played an important role in the Indian independence movement.

Lala Lajpat Rai helped establish Punjab National Bank.

He actively participated in the non-cooperation movement against British rule, which was mainly launched to oppose the Rowlatt Act.

The people of Odisha celebrate Martyrs’ Day on Lala Lajpat Rai’s death anniversary.

He has been described as a pillar of extremist nationalism in India.

Lala Lajpat Rai was heavily influenced by Hinduism.

He was a follower of Dayanand Saraswati, the founder of Arya Samaj.

Lala Lajpat Rai died on November 17 1928, due to his serious injuries.

5 Lines on Lala Lajpat Rai in Hindi | लाला लाजपत राय पर 5 लाइन

लाला लाजपत राय एक प्रमुख राष्ट्रवादी नेता थे जिन्होंने भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

वह भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के प्रमुख नेताओं में से एक थे।

वह ‘पंजाब के शेर’ या ‘पंजाब केसरी’ के नाम से प्रसिद्ध थे।

वह पंजाब नेशनल बैंक के संस्थापकों में से एक थे।

उन्होंने 1917 में न्यूयॉर्क शहर में इंडियन होम रूल लीग ऑफ अमेरिका की स्थापना की थी।

5 Lines on Lala Lajpat Rai in English

Lala Lajpat Rai was a prominent nationalist leader who played an important role in the Indian independence movement.

He was one of the prominent leaders of the Indian National Congress.

He was popularly known as the ‘Lion of Punjab’ or ‘Punjab Kesari’.

He was one of the founders of the Punjab National Bank.

He founded the Indian Home Rule League of America in 1917 in New York City.

हम आशा करते हैं कि आपको हमारा लेख “10 Lines on Lala Lajpat Rai in Hindi | लाला लाजपत राय पर 10 लाइन” पसंद आया होगा. यदि आपको हमारा यह लेख पसंद आया हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ साझा कर सकते हैं।

4 thoughts on “10 Lines on Lala Lajpat Rai in Hindi | लाला लाजपत राय पर 10 लाइन”

Leave a Comment