10 Lines on Chandrashekhar Azad in Hindi | चंद्रशेखर आजाद पर 10 लाइन

10 Lines on Chandrashekhar Azad in Hindi | चंद्रशेखर आजाद पर 10 लाइन

चंद्रशेखर आजाद एक भारतीय क्रांतिकारी नेता और एक स्वतंत्रता सेनानी थे।

चंद्रशेखर आजाद का जन्म 23 जुलाई 1906 को मध्य प्रदेश, भारत में हुआ था।

उनका असली नाम चंद्रशेखर तिवारी था।

उनके पिता का नाम सीताराम तिवारी और माता का नाम जागरानी देवी था।

उनकी मां चाहती थीं कि उनका बेटा संस्कृत का महान विद्वान बने।

वह हिंदुस्तान सोशलिस्ट रिपब्लिकन एसोसिएशन (HSRA) के मुख्य रणनीतिकार थे।

वह 1925 में हुई काकोरी ट्रेन डकैती में शामिल थे।

वह केवल 15 वर्ष के थे जब उन्हें गांधी के असहयोग आंदोलन में शामिल होने के लिए पहली बार गिरफ्तार किया गया था।

चंद्रशेखर आजाद ने प्रण लिया था कि पुलिस उन्हें कभी भी जिंदा नहीं पकड़ पाएगी।

वह भेष बदलने में माहिर थे और कई बार ब्रिटिश पुलिस से बचे थे।

27 फरवरी 1931 को जब इलाहाबाद के अल्फ्रेड पार्क में अंग्रेजों से लड़ाई के दौरान जब उनके पास एक गोली बची तो उन्होंने खुद को ही गोली मार ली और आजाद रहने का अपना प्रण पूर्ण किया।

पुलिस ने बिना जनता को बताए उनके शव का अंतिम संस्कार किया था. जब घटना की जानकारी लोगों को हुई तो जमकर हंगामा हुआ था।

10 Lines on Chandrashekhar Azad in English

Chandrashekhar Azad was an Indian Revolutionary leader and a Freedom fighter. 

Chandra Shekhar Azad was born on 23 July 1906 in Madhya Pradesh, India.

His real name was Chandra Shekhar Tiwari.

His father’s name was Sitaram Tiwari and his mother’s name was Jagrani Devi.

His mother wanted her son to become a great scholar of Sanskrit.

Chandrashekhar Azad was the chief strategist of the Hindustan Socialist Republican Association (HSRA).

He was involved in the Kakori Train Robbery that happened in 1925. 

He was only 15 when he was arrested for the first time for his involvement in Gandhi’s non-cooperation movement.

Chandrashekhar Azad had vowed that the police would never catch him alive.

He was a master of disguise and escaped from the British police several times.

On 27 February 1931, when he had one bullet left during the fight with the British at Alfred Park in Allahabad, he shot himself and fulfilled his vow to remain independent.

The police had cremated his body without informing the public. When people came to know about the incident, there were a lot of uproars.

5 Lines on Chandrashekhar Azad in Hindi | चंद्रशेखर आजाद पर 5 लाइन

चंद्रशेखर आजाद एक साहसी स्वतंत्रता सेनानी और एक निडर क्रांतिकारी थे।

चंद्रशेखर आजाद का जन्म 23 जुलाई 1906 को भावरा गांव में हुआ था।

चंद्रशेखर आजाद को आजाद के नाम से जाना जाता था।

उन्हें पहली बार 15 साल की उम्र में कैद किया गया था और उन्हें 15 कोड़ों की सजा सुनाई गई थी।

उनका जन्मस्थान मध्य प्रदेश का वर्तमान अलीराजपुर जिला है।

5 Lines on Chandrashekhar Azad in English

Chandrashekhar Azad was a courageous freedom fighter and a fearless revolutionary.

Chandra Shekhar Azad was born on 23 July 1906 in Bhavra Village.

Chandra Shekhar Azad was popularly known as Azad.

He was first imprisoned at the age of 15 and sentenced to 15 lashes.

His birthplace is the present-day Alirajpur district of Madhya Pradesh.

हम आशा करते हैं कि आपको हमारा लेख 10 Lines on Chandrashekhar Azad in Hindi | चंद्रशेखर आजाद पर 10 लाइन पसंद आया होगा. यदि आपको हमारा यह लेख पसंद आया हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ साझा कर सकते हैं।

2 thoughts on “10 Lines on Chandrashekhar Azad in Hindi | चंद्रशेखर आजाद पर 10 लाइन”

Leave a Comment