10 Lines on Dr. Bhimrao Ambedkar in Hindi | डॉ. भीमराव आम्बेडकर पर 10 लाइन

10 Lines on Dr. Bhimrao Ambedkar in Hindi | डॉ. भीमराव आम्बेडकर पर 10 लाइन

डॉ भीमराव अंबेडकर एक भारतीय अर्थशास्त्री, लेखक, समाज सुधारक और राजनीतिक नेता थे।

उन्हें बाबासाहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर के नाम से भी जाना जाता है।

डॉ. भीमराव अम्बेडकर का जन्म 14 अप्रैल 1891 को वर्तमान मध्य प्रदेश, भारत में हुआ था।

उनके पिता का नाम रामजी मालोजी सकपाल और माता का नाम भीमाबाई सकपाल था।

उनके पिता भारतीय सेना में सूबेदार थे।

उन्हें भारतीय संविधान के पिता के रूप में भी जाना जाता है।

वह स्वतंत्र भारत के पहले कानून मंत्री थे।

डॉ. भीमराव अम्बेडकर विदेश से अर्थशास्त्र में डॉक्टरेट (पीएचडी) की उपाधि प्राप्त करने वाले पहले भारतीय थे।

31 मार्च 1990 को उन्हें भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया गया था।

14 अप्रैल को उनका जन्मदिन अंबेडकर जयंती के रूप में मनाया जाता है।

उनके निजी पुस्तकालय “राजगीर” में 50,000 से अधिक पुस्तकें शामिल थीं और यह दुनिया का सबसे बड़ा निजी पुस्तकालय था।

उन्होंने 14 अक्टूबर 1956 को दीक्षाभूमि (नागपुर) में बौद्ध धर्म अपना लिया था।

अम्बेडकर ने भारतीय संविधान के अनुच्छेद 370 का विरोध किया था।

उन्होंने भारतीय रिजर्व बैंक के गठन में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

वह मसौदा समिति के अध्यक्ष भी थे, जिसे नए स्वतंत्र भारत के शासन के लिए एक संविधान तैयार करने का काम सौंपा गया था।

10 Lines on Dr Bhimrao Ambedkar in English

Dr Bhimrao Ambedkar was an Indian economist, writer, social reformer and political leader.

He is popularly known as Babasaheb Dr. Bhimrao Ambedkar. 

Dr Bhimrao Ambedkar was born on 14 April 1891 in present-day Madhya Pradesh, India.

His father’s name was Ramji Maloji Sakpal and his mother’s name was Bhimabai Sakpal.

He is also known as the Father of the Indian Constitution.

He was the first law minister of Independent India. 

He was the first Indian to pursue a doctorate in economics abroad.

He was awarded the Bharat Ratna, India’s highest civilian honour, on 31 March 1990.

His personal library “Rajgirh” consisted of more than 50,000 books and it was the world’s largest private library.

He converted to Buddhism on 14 October 1956 at Deekshabhoomi (Nagpur).

He was also instrumental in the formation of the Reserve Bank of India.

Ambedkar had opposed Article 370 of the Indian Constitution.

His birthday on 14 April is celebrated as Ambedkar Jayanti.

5 Lines on Dr. Bhimrao Ambedkar in Hindi | डॉ. भीमराव आम्बेडकर पर 5 लाइन

डॉ. भीमराव अम्बेडकर एक न्यायविद, समाज सुधारक और राजनीतिज्ञ थे।

आम्बेडकर का जन्म 14 अप्रैल 1891 को ब्रिटिश भारत के मध्य भारत प्रांत (अब मध्य प्रदेश) में स्थित महू नगर सैन्य छावनी में हुआ था।

उन्हें भारतीय संविधान के पिता के रूप में भी जाना जाता है।

उन्होंने जीवन भर दलितों और अन्य सामाजिक रूप से पिछड़े वर्गों के अधिकारों के लिए संघर्ष किया।

डॉक्टर अम्बेडकर की मृत्यु 6 दिसंबर 1956 को नींद में ही हो गई थी।

5 Lines on Dr Bhimrao Ambedkar in English

Dr Bhimrao Ambedkar was a jurist, social reformer and Politician.

Ambedkar was born on 14 April 1891 in Mhow Nagar Military Cantonment located in the Central India Province of British India.

He is also known as the Father of the Indian Constitution.

He fought for the rights of Dalits and other socially backward classes throughout his life.

Dr Ambedkar died in his sleep on 6 December 1956.

हम आशा करते हैं कि आपको हमारा लेख 10 Lines on Dr. Bhimrao Ambedkar in Hindi | डॉ. भीमराव आम्बेडकर पर 10 लाइन पसंद आया होगा. यदि आपको हमारा यह लेख पसंद आया हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ साझा कर सकते हैं।

2 thoughts on “10 Lines on Dr. Bhimrao Ambedkar in Hindi | डॉ. भीमराव आम्बेडकर पर 10 लाइन”

Leave a Comment